Computer notes in hindi एक ऐसी वेबसाइट है जहा आपको सभी प्रकार के नोट्स मिल जाऐगे, आप कम्प्यूटर बेसिक, कम्प्यूटर फंडामेंटल, एम एस वर्ड, एम एस एक्सेल, पावर प्वाइंट और इन्टरनेट के नोट्स हिंदी और इंग्लिश दोनो मे डाऊनलोड कर सकते हो।

Click Here 2 Download Latest Songs

Difference Between Peer 2 Peer and Client Server Network Model

Peer 2 Peer, Client Server, Client Server Network, peer to peer Network, Peer to peer v/s Client Server, Client Server v/s Peer to peer, Computer Notes,

हम आपको इस पोस्ट में Difference Between Peer 2 Peer and Client Server Network Model उसके बारे में जानकारी देंगे | Peer 2 Peer aur Client Server Network दोनों के कार्य अलग अलग होते हैं जो हम आपको इस पोस्ट के जरिये बताने जा रहे हैं |

Peer 2 Peer Network (पियर 2 पियर नेटवर्क)

  • Peer 2 Peer Network में प्रत्येक कंप्यूटर Client और Server दोनों की तरह कार्य करता हैं |
  • Peer 2 Peer Network में प्रत्येक कंप्यूटर अपनी सुरक्षा का खुद जिम्मेदार होता हैं |
  • Peer 2 Peer Network Decentralized होता हैं | 
  • Peer 2 Peer Network  का प्रयोग 10 से 20 कंप्यूटरो को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता हैं |
  • Peer 2 Peer Network का प्रयोग घर या छोटे कार्यालय में किया जाता हैं |
  • Peer 2 Peer Network को Workgroup मॉडल के रूप में भी जाना जाता हैं और उनका अपना खुद का डाटाबेस होता हैं |

Client-Server Network ( क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क )

क्लाइंट सर्वर, क्लाइंट सर्वर मॉडल, क्लाइंट सर्वर नेटवर्क, क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क मॉडल

  • Client-Server Network ( क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क ) में एक मुख्य Server होता हैं और दुसरे सभी कंप्यूटर client होते हैं |
  • Client-Server Network ( क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क ) में जो कंप्यूटर सेवाए प्रदान करता हैं उसे Server कहा जाता हैं और जो कंप्यूटर सेवाए प्राप्त करते हैं उन्हें Client कहा जाता हैं |
  • Client-Server Network ( क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क ) में एक ही रिसोर्स जैसे प्रिंटर या स्कैनर को सर्वर के साथ जोड़ दिया जाता हैं और सभी client, Server को request करके किसी भी फाइल का प्रिंटआउट निकल सकते हैं |
  • Client-Server Network ( क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क ) का उपयोग उस समय किया जाता हैं जब कंप्यूटर की संख्या ज्यादा मात्रा में होती हैं |
आशा करता हु आपको मेरी पोस्ट Peer 2 Peer aur Client Server Network Mein Kya Antar Hota Hein पसंद आई होगी | अगर आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आई हैं तो please आप इस पोस्ट को share करे | जिससे में आपके लिए और अच्छी से अच्छी पोस्ट लिखता रहू |

Difference between Internet Intranet and Extranet in Hindi |




Share:

इन्टरनेट इंट्रानेट और एक्सट्रानेट में क्या अंतर होता हैं |

इन्टरनेट,इंट्रानेट,एक्सट्रानेट
हमारी पोस्ट में हम आपको इन्टरनेट इंट्रानेट और एक्सट्रानेट में क्या अंतर होता हैं  के बारे में बतायेंगे | Internet आपस में जुड़े हुए नेटवर्क का एक ग्लोबल सरंचना हैं | Internet को नेटवर्को का नेटवर्क भी कहा जाता हैं |

Internet/इन्टरनेट 

  • Internet आपस में जुड़े हुए नेटवर्क का एक ग्लोबल सरंचना हैं | 
  • Internet को नेटवर्को का नेटवर्क भी कहा जाता हैं | 
  • Internet TCP/IP (ट्रांसमिशन कण्ट्रोल प्रोटोकॉल/इन्टरनेट प्रोटोकॉल) का इस्तेमाल करता हैं इसके अंदर करोड़ो कंप्यूटर आपस में जुड़े होते हैं और इनफार्मेशन को एक दुसरे के साथ शेयर करते हैं |
  • Internet का उपयोग विभिन्न कार्यो के लिए किया जाता हैं जैसे Email Browsing, Chatting, Messaging, Online Shopping.

Intranet/इंट्रानेट 

  • Intranet एक private नेटवर्क हैं जिसका उपयोग सगठन अपने रिसोर्स को शेयर करने के लिए करते हैं |
  • Intranet एक उपयोग एक बिल्डिंग में किया जाता हैं या फिर पुरे संसार में अलग अलग नेटवर्किंग तकनीको के द्वारा जुड़ा हुआ हो सकता हैं |
  • Intranet का उपयोग संस्था के कर्मचारियो द्वारा इनफार्मेशन को शेयर करने के लिए किया जाता हैं |
  • IntranetPOP3 (Point to Point 3 ) SMTP (Simple Mail Transfer protocol ) FTP (File Transfer protocol ) का इस्तेमाल करते हैं |

Extranet/एक्सट्रानेट 

  • Extranet एक प्रकार का कंप्यूटर नेटवर्क हैं जिसका उपयोग Intranet से बहार किया जाता हैं |
  • एक संगठन किसी विक्रेता को प्रोडक्ट अपडेट करने के लिए अपने आन्तरिक वेबसाइट रिसोर्स को प्राप्त करने की अनुमति देता हैं |
  • Extranet का उपयोग करने के लिए VPN (Virtual Private Network ) का उपयोग किया जाता हैं |
आशा करता हु आपको मेरी पोस्ट इन्टरनेट इंट्रानेट और एक्सट्रानेट में क्या अंतर होता हैं  पसंद आई होगी | 

What is word art in computer in hindi?

Share:

एम् एस वर्ड का होम टैब और उसके ग्रुप |

एम् एस वर्ड का होम टैब और उसके ग्रुप |

एम् एस वर्ड का होम टैब में 5 प्रकार के ग्रुप होते हैं | क्लिपबोर्ड, फॉण्ट, पैराग्राफ, स्टाइल्स और एडिटिंग | इन सभी ग्रुप में अलग अलग कमांड्स होती हैं जिनका अपना विशेष कार्य होता हैं |

Home Tab में कुल 5 Group होते हैं | इन सभी Group का नाम इस प्रकार हैं |
  1. Clipborad
  2. Font
  3. Paragraph
  4. Styles
  5. Editing
Clipboard, Font, Paragraph, Editing, Styles, Grow Font, Shrink Font, Font Color

Font Group

Font Group में बहुत सी अलग अलग प्रकार की Commands होती हैं जैसे Bold, Italic, Underline, Strikethrough, SuperScript, SubScript, Change Case, Text Highlight Color, Font Color, Font Face, Font Size, Grow Font, Shrink Font, Clear Formatting. इन सभी Commands का अपना एक विशेष कार्य होता हैं |

  • Bold :- सिलेक्ट किये Text को Normal Text से Dark दिखाने के लिए Bold यानि B Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+B Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text को Bold कर सकते हैं |
  • Italic :- सिलेक्ट किये Text को Normal Text से थोडा सा टेडा दिखाने के लिए Italic यानि Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+I Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text को Italic कर सकते हैं |
  • Underline :- सिलेक्ट किये Text के नीचे लाइन लगाने के लिए Underline यानि U Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+U Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text के नीचे लाइन लगा सकते हैं |
  • Strikethrough :- सिलेक्ट किये हुए Text के Middle में लाइन लगाने के लिए Strikethrough यानि abc Command का उपयोग किया जाता हैं |
  • SubScript :-Text के थोडा सा नीचे नंबर लगाने के लिए SubScript यानि X2 Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+= Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए नंबर को Text के नीचे ले जा सकते हैं |
  • SuperScript :- Text के थोडा सा उप्पर नंबर लगाने के लिए SuperScript यानि X2 Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+Shift++ Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए नंबर को Text के उप्पर ले जा सकते हैं |
  • Font Face :- सिलेक्ट किये हुए Text का Style बदलने के लिए Font Face Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+Shift+F Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text का style बदल सकते हैं | Font Face कई प्रकार के होते हैं जैसे Arial, Arial Black, Times New Roman, Calibri(Body) आदि | सबसे ज्यादा Times New Roman का उपयोग किया जाता हैं |
  • Font Size :- सिलेक्ट किये Text का Size कम या ज्यादा करने के लिए Font Size Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+Shift+P Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text का Size कम या ज्यादा कर सकते हैं |
  • Grow Font :- सिलेक्ट किये Text को Current Size से बड़ा करने के लिए Grow Font Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+> Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text को Current Size से बड़ा कर सकते हैं |
  • Shrink Font :- सिलेक्ट किये Text को Current Size से छोटा करने के लिए Shrink Font Command का उपयोग किया जाता हैं | हम CTRL+< Shortcut Key का उपयोग करके भी सिलेक्ट किये हुए Text को Current Size से छोटा कर सकते हैं |
  • Font Color :- सिलेक्ट किये Text का रंग बदलने के लिए Font Color Command का उपयोग किया जाता हैं |
  • Text Highlighter Color का उपयोग सिलेक्ट किये हुए Text को Marked करने के लिए किया जाता हैं | जैसे हम किसी Highlighter pen से text को marked कर देते हैं |
  • Change Case Command में 5 प्रकार की अलग अलग Commands होती हैं जैसे Upper case, Lower case, Sentence Case,  Capitalize Each Word, Toggle case.
  • Upper Case Command का उपयोग सिलेक्ट किये हुए सभी Text को Capital करने के लिए किया जाता हैं |
  • lower case Command का उपयोग सिलेक्ट किये हुए सभी Text को Small करने के लिए किया जाता हैं |
  • Sentence Case का उपयोग वाक्य के पहले अक्षर को Capital करने के लिए किया जाता हैं |
  • Capitalize Each Word का उपयोग वाक्य के सभी शब्दों का पहला अक्षर Capital करने के लिए किया जाता हैं |
  • Toggle Case का उपयोग Capital Letter को Small और Small Letter को capital Letter में करने के लिए किया जाता हैं |
  • Clear Formatting का उपयोग किसी भी प्रकार की की हुई formatting को खत्म करने के लिए किया जाता हैं |

Editing Group

Home Tab के Editing Group में Find और Replace Commands होती हैं | 

  1. Find Command का उपयोग पुरे Paragraph में से किसी विशेष Text को ढूढने के लिए किया जाता हैं | Find की Shortcut Command CTRL+F होती हैं | 
  2. Replace Command का प्रयोग Find किये हुए text को kisi दुसरे Text के साथ बदलने के लिए किया जाता हैं | Replace की Shortcut Command CTRL+H होती हैं |

Paragraph Group

Alignment :- Alignment 4 प्रकार की होती हैं जैसे Left Alignment, Right Alignment, Center Alignment, Justify | 

  1. Left Alignment का उपयोग करके आप सिलेक्ट किये हुए Paragraph की सभी Lines को Left Side से एक बराबर कर सकते हो | Left Alignment की Shortcut Command CTRL+L होती हैं | 
  2. Right Alignment का उपयोग करके आप सिलेक्ट किये हुए Paragraph की सभी Lines को Right Side से एक बराबर कर सकते हो | Right Alignment की Shortcut Command CTRL+R होती हैं | 
  3. Center Alignment का उपयोग करके आप सिलेक्ट किये हुए Paragraph की सभी Lines को Center से एक बराबर कर सकते हो | Center Alignment की Shortcut Command CTRL+E होती हैं | 
  4. Justify Alignment का उपयोग करके आप सिलेक्ट किये हुए Paragraph की सभी Lines को Left Side और Right Side दोनों तरफ से एक बराबर कर सकते हो | Justify Alignment की Shortcut Command CTRL+J होती हैं |

Clipboard Group

Clipboard Group का प्रयोग MS Word में चुने हुए टेक्स्ट को Cut, Copy और Paste करने के लिए किया जाता हैं | आप इन सभी Commands का प्रयोग दिए हुए Icon पर माउस की सहायता से क्लिक कर के कर सकते हो या फिर Text को सिलेक्ट करने बाद Shortcut Keys का उपयोग करके भी कर सकते हो | 

  1. सिलेक्ट किये हुए Text को Cut करने के लिए CTRL+X Shortcut Key का उपयोग करके सकते हैं | 
  2. सिलेक्ट किये हुए Text को Copy करने के लिए CTRL+C Shortcut Key का उपयोग करके सकते हैं | 
  3. Paste Command का उपयोग हमेशा किसी भी Text को Cut या Copy करने के बाद ही किया जाता हैं और उसके लिए CTRL+V Shortcut Key का उपयोग किया जाता हैं |

Styles Group

Home Tab के Styles Group में अलग अलग प्रकार के styles दिए होते हैं जिनका प्रयोग करके हम पुरे Paragraph का style बदल सकते हैं जैसे हमारा सभी का लिखने का style अलग अलग होता हैं उसी प्रकार से Styles Group में भी अलग अलग styles दिए होते हे जैसे Normal Style, Formal Style, Heading Style.
Share:

5 Differences between HTML and XHTML

xhtml,difference between html and xhtml,html,xhtml (programming language),html xhtml difference,xhtml and html,html5,html tutorial for beginners

We tell you 5 Differences between HTML and XHTMLHTML stands for Hyper Text Markup Language and XHTML stands for Extensible Hyper text Markup Language.

5 Differences between HTML and XHTML


HTML :- HTML stands for Hyper Text Markup Language.                                            XHTML :- XHTML stands for Extensible Hyper Text Markup Language.



HTML :- HTML Language is not supported by All Major Browsers like Internt Explorer, Google Chrome, and Mozilla Firefox.                                                XHTML :- XHTML is supported by All Major Browsers like Internet Explorer, Google  Chrome, and Mozilla Firefox.

HTML :-  In HTML Language, DOC TYPE is not mandatory.                                          XHTML :- In XHTML Language, DOC TYPE is mandatory.



HTML :- HTML Elements may or may not always be closed.                                          XHTML :- XHTML Elements must always be closed.

HTML :-  HTML Language is Case-insensitive. It is mean attributes can be of upper                        case or lower case.                                                                                              XHTML :- XHTML Language is Case-Sensitive. The Tags and Attributes must be of                       Lower case.

HTML :- HTML Language is earlier proposed by Tim Burners Lee and developed by                          W3C and it was released in year 1993.                                                               XHTML :- XHTML Language was developed by World Wide Web Consortium and                          it was released in year 2000.

HTML :- The filename Extension of HTML Langauge is .html and .htm                          XHTML :- The filename Extension of XHTML Language is .xhtml and .xht

HTML :- Latest version of HTML Language is HTML5, which is a major release for    HTML n the year 2014.  
XHTML :- Latest version of XHTML Language is XHTML5.


आशा करता हु की आपको मेरे द्वारा लिखी हुई पोस्ट जिसका नाम 5 Differences between HTML and XHTML पसंद आई होगी |

Share:

Trick to Find the Square of 2, 3 and 4 Digital Number

square root and cube root tricks in hindi,square root trick of any number,square root of any number,square root,imaginary number,types of number,digital root square root,math trick number system

Trick to Find the Square of 2 digit number, you have to remember the above table. Similarly to Find the Square of 3 digit number, you remember above table to find out answer quickly.

Trick to Find the Square of 2 Digit Number

दो सख्या तक के नंबर का square हम इस trick का उपयोग करके निकल सकते हैं | अगर हम कॉम्पीटीसन परीक्षा में जल्दी से जल्दी प्रश्न हल करना चाहते हैं तो हमें इन trick को अच्छे से जानना होगा |
To Find the Square of 2 Digit Number Follow these steps.

हम आपको 32 से 99 तक का Sqaure किस प्रकार निकाला जाता हैं पहले वो बताते हैं |

  1. याद रखे 2 digit number के square  का उतर 4 digits में आएगा |

32 का Sqaure निकालने की Trick इस प्रकार हैं |

                      3      2                             
                      3       2                             
                 ___________
                     09      04                
                        1     2 
                  +
              _____________
                     10 2 4 
              _____________         

  1.  हम सबसे पहले 3 को 3 और 2 को 2 से गुणा करेगे और उनको दो  digit में लिख देगे जैसा आप देख रहे हो | जैसे 3*3=9 और 9 को 09 की फॉर्म में लिख दिया हैं इसी प्रकार 2*2=4 और 4 को 04 की फॉर्म में लिख दिया |
  2. अब हम 3 और 2 की आपस में गुणा करके उसको 2 से गुणा कर देगे क्योंकि की हमें square निकलना हैं | जैसे 3*2=6 और 6*2=12.
  3. अब 12 को उप्पर हल किये हुए प्रशन की तरह लिख देगे |
  4. अब NUMBER का जोड़ लगा देगे |

Trick to Find the Square of 44 

 
                          4      4
                          4      4
                    ____________
                        16     16
                           3    2                              
                     +                       
                   ______________
                       19      36
                    ____________

Square of 44 is 1936
  1. आप उप्पर हल हुए प्रशन को देख समझ ही गये होंगे की हमने क्या किया हैं | फिर भी हम आपको दोबारा से बता देते हैं की किस प्रकार से हम 44 का square निकाल सकते हैं |
  2. सबसे पहले हमने 4*4 जो बायीं तरफ से उप्पर नीचे लिखे हुए अंक हैं | और उसी प्रकार 4*4 को दाई तरफ उप्पर और नीचे लिखे हुए हैं उनको आपस में गुणा किया |
  3. 4*4=16 जो पहले से ही दो digit में हैं | 
  4. फिर हमने 4*4 उप्पर वाली दोनों संख्या की गुणा करके उसको 2 से गुणा कर दिया जैसे 4*4=16 और 16*2=32.
  5. अब आप देख रहे हो की हमने 32 को किस तरह से लिखना हैं |
  6. और फिर अंत में हमने उनका जोड़ कर देना |
By using this Trick we can easily Find the Square of Any 2 digit Number.



Share:

वर्ल्ड वाइड वेब क्या होता हैं - What is WWW in Hindi

what is www in hindi,what is www,what is internet in hindi,what is world wide web,what is www in hindi notes,what is url in hindi,what is www ? क्या है www ?,what is http in hindi,what is blog in hindi,what is website in hindi,what is web browser in hindi

WWW का पूरा नाम वर्ल्ड वाइड वेब हैं | वर्ल्ड वाइड वेब को W3 और वेब के नाम से भी जाना जाता हैं | वर्ल्ड  वाइड वेब डॉक्यूमेंट का समूह होता हैं जो आपस में एक दुसरे से हाइपरटेक्स्ट के द्वारा जुड़े होते हैं |वर्ल्ड वाइड वेब में सूचनाओ को वेबसाइट के रूप में रखा जाता हैं |

INTRODUCTION TO WORLD WIDE WEB OR WEB |

  1. Full Form of WWW is World Wide Web. World Wide Web is also known as W3 or Web.      
  2. The World Wide Web or Web is a way of accessing and sharing information over the internet by using Web Browser.                                                                                                                    
  3. The Web uses the HTTP Protocol, only one of the language used over the Internet, to transmit data. 
  • WWW  का पूरा नाम वर्ल्ड वाइड वेब हैं | वर्ल्ड वाइड वेब को वेब या W3 के नाम से भी जाना जाता हैं |
  • वर्ल्ड वाइड वेब या वेब, वेब ब्राउज़र का उपयोग करके इन्टरनेट पर जानकारी तक पहुचने और शेयर करने का एक तरीका हैं |
  • वर्ल्ड वाइड वेब या वेब, हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल (HTTP) प्रोटोकॉल का उपयोग करता हैं |


HISTORY OF WORLD WIDE WEB (WWW) OR WEB

Tim Burner-Lee, Scientist of WWW, Inventor Name of WWW

  1. Inventor of World Wide Web was Tim Berners-Lee.                                                                 
  2. Tim Berners-Lee was working in the European Organization for Nuclear Research, Switzerland.                                                                                                                                      
  3. Tim Berners-Lee was the director of w3c i.e World Wide Web Consortium.                                   
  4. In 1989, Tim Berners-Lee Started work on World Wide Web Server.


  • वर्ल्ड वाइड वेब की खोज टीम बेर्नेर्स ली के द्वारा करी गयी थी |                         
  • बर्नर्स यूरोपियन आरगेनाइजेशन फॉर न्यूक्लियर रिसर्च (European Organization For Nuclear Research ), स्‍वीटजरलैन्‍ड में कार्य कर रहे थे।                                          
  • टीम बेर्नेर्स ली वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम w3c के डायरेक्टर थे |                                  
  • सन 1989 में, टीम बेर्नेर्स ली ने वर्ल्ड वाइड वेब सर्वर पर काम करना शुरू किया था |

VARIOUS COMPONENTS OF WEB

There are Basic 3 Components of Web.
  1. Web Browser
  2. Web Page
  3. Web Site

Web Browser

  1. A Web Browser is a Software program that enables you to view and interact with various resources on the web.                                           
  2. Microsoft Internet Explorer is widely used Web Browser that displays both text and graphics.                                                             
  3. Some Web Browser, such as Internet Explorer 7 offers a new feature called tabbed browsing.                                                                                                                                         
  4. Using tabs, you can view multiple web sites in a single browser window and easily switch from one web site to another.                                          
  5. Web Browser use HTML to display Web pages.
  • एक वेब ब्राउज़र एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम हैं जो आपको वेब पर विभिन्न संसाधनो के साथ देखने और बातचीत करने में सक्षम बनता हैं |                                                                                                        
  • सबसे ज्यादा माइक्रोसॉफ्ट इन्टरनेट एक्स्प्लोरर वेब ब्राउज़र का उपयोग किया जाता हैं जो टेक्स्ट और ग्राफ़िक्स दोनों भी डिस्प्ले करवाने में मदद करता हैं |                                                                            
  • कुछ वेब ब्राउज़र जैसे Internet Explorer 7 एक नयी सुविधा प्रदान करता हैं जिसे टैब्ड ब्राउज़िंग के नाम से जाना जाता हैं |                                                                                                                                
  • टैब का उपयोग करके, आप एक हे वेब ब्राउज़र विंडो में कई वेबसाइट देख सकते हैं और आसानी से एक वेब साईट से दूसरी वेबसाइट में बदल सकते हैं |                                                                                     
  • वेब ब्राउज़र वेब पेज प्रदर्शित करने के लिए एचटीएम्एल भाषा का उपयोग करते हैं |

Add-on 

  1. Web sites may contain content in the form of animation, video, or audio files. To view these files, you need additional programs known as add-on.

Web Page

  1. A Web Page is a formatted text document on the web that a Web Browser can display.                                                                                                      
  2. Web pages on the Internet allow you to quickly move to another Web Page. we can do this by clicking a hyperlink, commonly called a link.                
  3. You can create Web Pages by using a Software Language Called Hyper Text Markup Language (HTML).                                                                                                                                           
  4. Web Browser use HTML to display Web pages.
  • एक वेब पेज, वेब पर एक स्वरूपित टेक्स्ट डॉक्यूमेंट हैं जिसे वेब ब्राउज़र डिस्प्ले कर सकता हैं |               
  • इन्टरनेट पर वेब पेज हमें जल्दी से दुसरे वेब पेज पर जाने की अनुमति देते हैं जिसे हम हाइपरलिंक पर क्लिक करके कर सकते हैं, जिसे आमतोर पर लिंक कहा जाता हैं |                                                          
  • हम हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज का उपयोग करके वेब पेज बना सकते हैं |                                           
  • वेब ब्राउज़र, वेब पेज दिखाने के लिए HTML भाषा का उपयोग करते हैं |
 
Web Site
  1. A Web Site is one or more Web Pages that reside on a single Server. This Server is known as Web Server and is connected to the Internet.                                                                                   
  2. Every Web Site has a unique home Page. The First Web Page that is displayed when you access a Web Site is Known as the Home Page.
  • एक या एक से ज्यादा वेब पेजेज से मिलकर एक वेब साईट तयारी करी जाती हैं जो एक सिंगल सर्वर पर चलती हैं |                 
  • प्रत्येक वेब साईट का अपना एक होम पेज होता हैं | जब हम किसी भी वेबसाइट को खोलते हैं तब जो सबसे पहला पेज हमें उस वेबसाइट पर दिखाई देता हैं उसे होम पेज कहा जाता हैं |
अगर आपको मेरे द्वारा लिखी हुई पोस्ट जिसका नाम वर्ल्ड वाइड वेब क्या होता हैं- What is WWW in Hindi हैं पसंद आई तो Please अपनी टिप्णी जरूर दे |





Share:

How to Print 30 Labels on a Single Sheet?

Labels, How to Print 30 labels, Print a single label, How to print avery mailing labels, How to print avery address labels, How to print on wood, Print barcode labels, How to start a business, How to use labels in word, How to sell on amazon, Shipping labels

Do you know How to Print 30 Labels on a Single Sheet. labels are the stickers that are used to create identification card, business cards, visiting cards, shopping tags card etc.

Labels, How to Print 30 labels, Print a single label, How to print avery mailing labels, How to print avery address labels, How to print on wood, Print barcode labels, How to start a business, Open Office,
  1. सबसे पहले ओपन ऑफिस 4.1.5 को खोले |
  2. अब उप्पर दिखाए हुए चित्र में Text Document पर क्लिक करे |
  3. अब ओपन ऑफिस राइटर के नाम से एक पेज ओपन होगा |
  4. अब File Menu के New में जा कर Labels आप्शन पर क्लिक करे |
  5. Labels नाम का एक डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा |
  6. अब Label text बॉक्स में https://oneinallnotes.blogspot.com लिखे जैसा आपको नीचे चित्र में दिखाया गया हैं |
    Labels, How to Print 30 labels, Print a single label, How to print avery mailing labels, How to print avery address labels, How to print on wood, Print barcode labels, How to start a business, Open Office,
  7. अब New Document पर क्लिक करे |
  8. क्लिक करते ही 30 Labels एक ही शीट पर प्रिंट हो जायेंगे | 
Labels, How to Print 30 labels, Print a single label, How to print avery mailing labels, How to print avery address labels, How to print on wood, Print barcode labels, How to start a business, Open Office,

Note :- आशा करता हु की आपको मेरे द्वारा लिखी हुई पोस्ट जिसका नाम हैं How to Print 30 Labels on a Single Sheet हैं पसंद आई होगी | 









Share:
Copyright © COMPUTER NOTES IN HINDI | Powered by Blogger Distributed By ONE IN ALL NOTES & Design by ANKU GARG